अमरिंदर सिंह बोले- CAA देश के लिए विभाजनकारी और खतरनाक, पंजाब में नहीं करेंगे लागू

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून को देश के लिए विभाजनकारी और खतरनाक करार दिया. अपने बयान को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सरकार राज्य में इसे लागू नहीं होने देगी. अमरिंदर सिंह ने लोगों से कानून के खिलाफ एकजुट होने का आग्रह किया और कहा कि उनकी पार्टी इसके खिलाफ लड़ेगी.

नागरिरकता कानून के खिलाफ जारी एक प्रदर्शन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को संबोधित करते हुए अमरिंदर सिंह ने यह बात कही. अमरिंदर सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी(बीजपी) सरकार की ओर से लाए गए नागरिकता कानून अधिनियम के खिलाफ देश को खड़ा होना चाहिए.

अमरिंदर सिंह ने कहा कि यह कानून देश के धर्मनिरपेक्ष ढांचे के लिए खतरनाक है. मेरी सरकार पंजाब में सीएए नहीं लागू होने देगी. हम इसके खिलाफ जी-जान से लड़ेंगे. इस प्रोटेस्ट में कांग्रेस नेता आशा कुमारी और सुनील जाखड़ भी मौजूद रहे.

नागरिकता कानून भेदभावपूर्ण

अमरिंदर सिंह ने कहा बीजेपी अपने नापाक मंसूबों पर खरा नहीं उतर सकी.16 राज्यों में ड्रैकियन एक्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि यह देश के संवैधानिक ढांचे के खिलाफ है. अमरिंदर सिंह ने इस दौरान संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी. उन्होंने कहा कि संविधान का मूलभूत ढांचा में बदलाव न किया जाए.

उन्होंने कहा कि जब संविधानों में संशोधन पूरी दुनिया में हो रहे थे, तब भी किसी ने यह नहीं बर्दाश्त किया कि संविधान का मूलभूत ढांचा में बदलाव किया जाए. यहां तक की संयुक्त राष्ट्र ने भी नागरिकता संशोधन कानून को भेदभावपूर्ण बता दिया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ से सवाल

अमरिंदर सिंह ने  प्रियंका गांधी के साथ यूपी में पुलिस की कथित बदसलूकी पर कहा कि ऐसा बिना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मर्जी के नहीं हो सकता. ऐसी कार्रवाइयों पर आपको शर्म नहीं आती. हम यह भूल नहीं सकते, एक दिन आपको हम इस दिन की याद जरूर दिखलाएंगे.

Comments are closed.