कोलकाता टेस्ट : भारत के दबदबे के बीच मुश्फीकुर रहीम का संघर्ष, खेली अर्धशतक पारी

कोलकाता। भारत ने यहां ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले जा रहे दिन-रात टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को भी बेशक अपना दबादबा बनाए रखा हो, लेकिन बांग्लादेश के जुझारू बल्लेबाज मुश्फीकुर रहीम ने अकेले संघर्ष करते हुए लड़ाई को जारी रखा है। रहीम ने भारत के दूसरे ही दिन जीत हासिल करने की उम्मीद को धुमिल किया। एक समय 13 रनों पर ही अपने चार विकेट खोने वाली बांग्लादेश ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपनी दूसरी पारी में छह विकेट खोकर 152 रन बना लिए हैं। वह भारत से अभी भी 89 रन पीछे है।

पहली पारी में बांग्लादेश 106 रनों पर ढेर हो गई थी। भारत ने कप्तान विराट कोहली के 136, अजिंक्य रहाणे के 51 रनों के दम पर दूसरे दिन दूसरे सत्र में अपनी पहली पारी नौ विकेट के नुकसान पर 347 रनों पर घोषित कर 241 रनों की बढ़त ली।

इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने अपना काम किया और बांग्लादेश के विकेट लेने चालू किए। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले ईशांत शर्मा ने जहां से खत्म किया था दूसरी पारी में वहीं से शुरुआत की। उन्होंने पांचवीं ही गेंद पर शादमान इस्लाम को बिना खाता खोले पवेलियन लौटा दिया और अपने दूसरे तथा पारी के तीसरे ओवर में कप्तान मोमिनुल हक को भी खाता नहीं खोलने दिया।
उमेश यादव ने नौ के कुल स्कोर पर मोहम्मद मिथुन को पवेलियन लौटा मेहमान टीम को तीसरा झटका दिया।

दूसरे छोर पर खड़े सलामी बल्लेबाज इमरूल कायेस पांच रनों के निजी स्कोर पर किसी तरह पहुंचे थे लेकिन ईशांत ने यह सुनिश्चित किया कि वह इससे आगे नहीं जा पाएं। 13 रनों पर चार विकेट, यह आंकड़े बांग्लादेश के स्कोरबोर्ड पर थे।

यहां से रहीम का संघर्ष शुरू हुआ, जिसमें महामुदुल्लाह ने भी उनका साथ दिया। महामुदुल्लाह हालांकि थोड़े दुर्भाग्यशाली रहे क्योंकि 39 के निजी स्कोर पर वह मांसपेशियों में खिंचाव के कारण रिटायर्ड हर्ट हो गए।
उनके स्थान पर बल्लेबाजी करने आए मेहेदी हसन मिराज 15 के स्कोर से आगे जा नहीं पाए। ईशांत ने उन्हें 133 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज बांग्लादेश को पांचवां झटका दिया।

इस बीच रहीम लगातार रन करते रहे और उन्होंने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। मेहमान टीम की तरफ से इस मुश्किल लड़ाई को उन्होंने किसी तरह जारी रखा है। रहीम ने दिन का खेल खत्म होने तक 70 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से 59 रन बना लिए हैं। अंपायर ने एक बार उन्हें रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था लेकिन रहीम ने तुरंत रिव्यू लिया जिसमें वो बच गए।

उमेश ने हालांकि 152 के कुल स्कोर पर ही ताइजुल इस्लाम को 11 रनों पर आउट कर भारत को छठी सफलता दिलाई और इसी के साथ दिन का खेल खत्म कर दिया गया। ॉ
भारत के लिए ईशांत ने चार और उमेश ने दो विकेट लिए।

इससे पहले, भारत का दिन का पहला सत्र अच्छा रहा था जहां उसने उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे का ही विकेट खोया था। कोहली ने रहाणे के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 99 रन जोड़े। इन दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे दिन तीन विकेट के नुकसान पर 174 रनों से भारतीय पारी को आगे बढ़ाया। 236 के कुल स्कोर पर ताइजुल ने रहाणे की 51 रनों की पारी का अंत कर दिया। रहाणे ने 69 गेंदों पर सात चौके लगाए।

कोहली ने उनके जाने के बाद अपना 27वां टेस्ट शतक पूरा किया। इसी शतक के साथ कोहली टेस्ट में कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले खिलाड़ियों की सूची में दूसरे स्थान पर आ गए हैं। उनका यह कप्तान के तौर पर 20वां शतक है। कोहली ने इस स्थान से आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को हटाया है। अब उनसे आगे सिर्फ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ हैं जिनके नाम बतौर कप्तान 25 शतक हैं।

वहीं खेल के तीनों प्रारूप में कप्तान के तौर पर शतक लगाने के मामले में कोहली और पोटिंग एक साथ हैं। दोनों के नाम सभी प्रारूपों में कुल मिलाकर 41-41 शतक हैं।

कप्तान का विकेट दूसरे सत्र में गिरा। उनको पवेलियन भेजने में ताइजुल का अहम योगदान रहा जिन्होंने इबादत हुसैन की गेंद पर फाइन लेग पर कोहली का बेहतरीन कैच लपका। कोहली ने 194 गेंदों पारी में 18 चौके मारे और 136 रन बनाए। उनसे पहले रवींद्र जडेजा 12 रन बनाकर अबु जायेद का शिकार हो गए।
कोहली के बाद भारत ने रविचंद्रन अश्विन (9), उमेश यादव (0) और ईशांत शर्मा (0) के विकेट खोए। मोहम्मद शमी 10 और रिद्धिमान साहा 17 रन बनाकर नाबाद लौटे।

बांग्लादेश के लिए अल अमिन हुसैन, इबादत ने तीन-तीन विकेट लिए। अबु जायेद के हिस्से दो सफलताएं आईं। एक लिकेट ताइजुल के हिस्से आया।

Comments are closed.